पीएम आज करेंगे बनिहाल कांजीगुंड सुरंग का उद्घाटन, मिलेगा पहला लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज  जम्मू कश्मीर से देश भर की ग्राम सभाओं को करेंगे संबोधित, बनिहाल और कांजीगुंड सड़क सुरंग का करेंगे उद्घाटन, आज शाम मुंबई में मिलेगा लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार, पुरस्कार पाने वाले देश के पहले व्यक्ति

आज 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जम्मू कश्मीर के सांबा जिले में राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस पर होने वाले कार्यक्रम में भाग लेंगे। वह यहां से पुरे देश की ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस दौरान 20000 करोड़ रुपए की परियोजना का उद्घाटन करेंगे। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अमृत सरोवर पहल का भी शिलान्यास करेंगे। वह संभा जिले के पल्ली गांव की पंचायत का भी दौरा करेंगे।

बनिहाल – काजीगुंड सड़क होगी शुरू

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज 3100 करोड़ रुपए की लागत से बनी बनिहाल कांजी गुंड सुरंग का उद्घाटन करेंगे। यह सुरंग बनियान और कांजीगुंड के सड़क मार्ग को 16 किलोमीटर कम कर देगी। इससे यात्रियों का डेढ़ घंटे तक के समय का बचाव होगा। इस सुरंग में रखरखाव और आपातकालीन निकासी के उद्देश्य से दोहरे ट्यूबों को प्रत्येक 500 M की दूरी पर एक क्रॉस मार्ग के जरिए आपस में जोड़ा जा रहा है। यह सुरंग जम्मू और कश्मीर के बीच हर मौसम में संपर्क स्थापित करने में मदद करेगी।

पनबिजली परियोजनाओं की करेंगे शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रतेले और क्वार पनबिजली परियोजनाओं का भी शिलान्यास करेंगे। किश्तवाड़ में चिनाब नदी पर 5300 करोड़ की लागत से 850 मेगावॉट की रतले पनबिजली परियोजना का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा 4500 करोड़ में 540 मेगावॉट की क्वार पनबिजली परियोजना का निर्माण भी यहीं किया जाएगा। इसके अलावा पीएम 7500 करोड़ की लागत से बनने वाले दिल्ली अमृतसर कटड़ा एक्सप्रैस वे के तीन रोड पैकेजों की आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री पल्ली के 500 किलोवाट के सौर ऊर्जा संयंत्र का भी उद्घाटन करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मुंबई में मिलेगा दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शाम को पांच बजे मुंबई में मास्टर दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार समारोह में शामिल होंगे। जहां पर उन्हें प्रथम लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। यह पुरस्कार भारत रत्न लता मंगेशकर की स्मृति में शुरू किया गया है। यह पुरस्कार हर साल एक व्यक्ति को राष्ट् निर्माण में अनुकरणीय योगदानकर्ता को दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यह पुरस्कार पाने वाले पहले व्यक्ति होंगे।