युरोपीयन युनियन (EU) रेगूलेटर्स ने क्रिप्टोकरंसी इन्वेस्टरों को दी चेतावनी, कहा पुरे पैसे गंवाने के लिए रहें तैयार।

European Union (EU) regulators warned cryptocurrency investors, saying be prepared to lose money – युरोपीयन युनियन (EU) रेगूलेटर्स ने क्रिप्टोकरंसी इन्वेस्टरों को दी चेतावनी, कहा पुरे पैसे गंवाने के लिए रहें तैयार।

पिछले कुछ समय से क्रिप्टोकरंसी मार्केट में इंवेस्टरो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आज के युवा वर्ग में क्रिप्टोकरंसी का प्रचलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। जिसकी वजह से रेगूलेटर्स संस्थाओं की चिंता काफी बढ़ गई हैं।

युरोपीयन युनियन (EU) के बैंकिंग, सिक्योरिटीज और इंश्योरेंस रेगूलेटर्स ने क्रिप्टोकरंसी मार्केट में ट्रेडिंग करने वालों को चेतावनी दी है कि उन्हें अपने सारे पैसे गंवाने के लिए तैयार रहना चाहिए। युरोपीयन युनियन की तीनों संस्थानों द्वारा ये बयान दिया गया है कि ” अगर आप लोग क्रिप्टोकरंसी को एक एस्सेट के तौर पर खरीदते हैं तो आपके पूरे के पूरे इंवेस्टमेंट के नुकसान होने की आकांशा है”।

युरोपीयन युनियन आथोरटिज ने क्रिप्टोकरंसी इन्वेस्टरों को क्रिप्टोकरंसी को एसेट्स के तौर पर खरीदने वालों को सीधी चेतावनी दी गई है। इससे यह भी साफ हो जाता है कि युरोपीयन युनियन आथोरटिज के फाइनेंशियल सर्विसेज कानुनों के अनुसार क्रिप्टोकरंसी में किसी पर प्रकार के नुकसान के लिए किसी प्रकार की कोई सुरक्षा या मुआवजे का प्रावधान नहीं है।

रेगुलेटर्स इस बात से परेशान हैं कि इंवेस्टरो को क्रिप्टोकरंसी के रिस्क के बारे में जानकारी नहीं है। क्रिप्टोकरंसी मार्केट के टोटल मार्केट कैप का 60% हिस्सा बिटकॉइन और इथेरियम का है।

ये भी पढ़ें: SEL manufacturing company Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2026, 2030 In Hindi

ज्यादा रिटर्न देने वाले बयानों से बचना चाहिए।

युरोपीयन युनियन की तीनों आथोरोटिज का कहना है कि ” इन्वेस्टरों को सोशल मीडिया पर ज्यादा रिटर्न देने वाले बयानों से बचना चाहिए। और कोई भी इंवेस्टमेंट करने से पहले अपनी पुरी रिसर्च अवश्य कर लेनी चाहिए।

इसके अलावा क्रिप्टोकरंसी मार्केट में ट्रेडिंग करने वालों को इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि बहुत सी क्रिप्टोकरंसी की माइनिंग में बहुत ज्यादा इलैक्ट्रिसिटी का खर्च होता है। इससे वायु प्रदुषण भी बहुत होता है। इसलिए इससे पहले भी कई इंटरनेशनल संस्थान क्रिप्टोकरंसी का विरोध कर चुकी हैं।

ये भी पढ़ें:– Persistent Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2026, 2030 In Hindi

क्रिप्टोकरंसी का क्रेज आज कल के युवाओं के सिर चढ़ कर बोल रहा है। जिस वजह से क्रिप्टोकरंसी मार्केट में लगातार नये इन्वेस्टरों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। लोग बिना सोचे समझे ही क्रिप्टोकरंसी में इंवेस्ट करते जा रहे हैं। जिससे उन्हें पूरा इंवेस्टमेंट के नुकसान होने का खतरा बढ़ रहा है।

कुछ इंटरनेशनल संस्थान भी क्रिप्टोकरंसी का विरोध कर चुकी हैं। इससे पहले इंटरनेशनल मोनेटर फंड (IMF) ने भी इसका विरोध किया था। आईएमएफ ने कर्ज से दबे हुए अर्जेंटिना के कर्ज रिसाइकलिंग की डील में यह बात रखी है कि अर्जेंटीना क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल कम करें। आईएमएफ का कहना है कि क्रिप्टोकरंसी के डिसेंटरलाइज्ड और बिना रेगुलेशन होने की वजह से इसका इस्तेमाल गैरकानूनी कामों के लिए किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें:– CAMS Share Price Target 2023, 2024, 2025, 2026, 2030 In Hindi

इसके अलावा क्रिप्टोकरंसी में हाई वोलैटिलिटी भी एक चिंता का विषय है। इसलिए इसमें नये इंवेस्टरो को नुक्सान होने का खतरा बढ़ जाता है।
आईएमएफ IMF ने पिछले साल अल सल्वाडोर के बिटकॉइन को कानूनी मान्यता देने का भी विरोध किया था। आईएमएफ का मानना है कि बिटकॉइन में काफी उतार चढ़ाव देखने को मिलते हैं। जिससे देश की अर्थव्यवस्था में काफी अस्थिरता आ सकती है, जोकि किसी भी देश के फ्युचर के लिए ठीक बात नहीं है।

ये भी पढ़ें:– Best IT stocks to buy in India for long term in hindi

क्रिप्टोकरंसी मार्केट के बहुत ज्यादा हाई वोलैटिलिटी होने की वजह से इसमें रिस्क बहुत ज्यादा है। और मार्केट एक बार डाउन जाने के बाद वापिस आने में काफी समय लगाता है।

क्रिप्टोकरंसी के डिसेंटरलाइज्ड और बिना रेगुलेशन होने की वजह से भी इसका इस्तेमाल गलत कामों में आसानी से किया जा सकता है। जिससे आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है।

इसलिए क्रिप्टोकरंसी मार्केट में उतना ही पैसा इंवेस्ट करना चाहिए जितने पैसे से आपको किसी प्रकार की कोई फाईनैशियल परेशानी ना हो और आप उन पैसों को लम्बे समय तक होल्ड कर सकें।

ये भी पढ़ें:-